समर्थक

Monday, August 14, 2017

एक बेटे का पत्र माँ भारती के नाम




तेरी गोद मे तो मै अभी आया,

मगर माँ स्नेह तेरा खुब पाया |
अपनी छाती से जो तुने फल उगाया,
उसमे है घङा भर अमृत समाया ||



तेरी यह सोंधी मिट्टी में,

मैंने चलना सीखा|
तेरी ये वादीयाँ और फूलों की खुशबू,

जिन्हे मै ना अभी तक भूल पाया|


तेरी ही आँचल मे मै महफूज था,

तुझमे ही तो मेरा कण-कण समाया ।
हमे सबकुछ देकर भी कुछ ना चाहा,
अब है तेरा बेटा शरहद पर आया ।।

Saturday, August 5, 2017

माँ तेरे जाने के बाद



जब मै जन्मा तो मेरे लबो सबसे पहले तेरा नाम आया,
बचपन से जवानी तक हर पल तेरे साथ बिताया|



पता नहीं तू कहा चली गयी रुसवा होकर,
आज तक ना तेरा कोई पौगाम आया||


मै तो सोया हुआ था बेफिक्र होकर,
जब जागा तो न तेरी ममता, ना तुझे पाया|


मुझसे क्या ऐसी खता हो गयी,
जिसकी सजा दी तूने ऐसी की मै सह ना पाया||


तू छोड़ गयी मुझे यु अकेला,
मै तुझे आखरी बार देख भी ना पाया|


तू तो मुझे एक पल भी छोड़ती नहीं थी,
फिर तूने इतना लम्बा अरसा कैसे बिताया||


तू इक बार आ जा मुझसे मिलने,
देखना चाहता हूँ माँ तेरी एक बार काया||


Friday, August 4, 2017

मैंने भी प्यार किया था


जी हां हमको भी प्यार हुआ था,
उम्र 15  साल।
कद छोटा, रंग काला और थोड़ा मोटा,
जब पड़ा था इश्क का अकाल।।

जब फिल्मो के हीरो अमिताभ,
और विलेन था सकाल।
और जब मै नाई से,
कटवा रहा था अपने बाल।।

जब मै बाल कटवा रहा था,
तभी वहा बवाल।
नाई थोड़ा घबराया,
बाल की जगह कट गया मेरा गाल।।

मै भी जिज्ञासा वस बाहर आया,
तो देखा नया बवाल।
दो प्रेमी मित्र मना रहे थे,
नया-नया साल।।

दोनों ने एक दुसरे को कसके पकड़ा था,
तब मुझे आया एक ख्याल।
लोगो ने किया था,
उनको देखकर लोगो ने किया था बवाल।।

लेकिन उस बवाल को देखकर,
मेरे मन में आया प्यार का ख्याल।
मैंने भी प्यार करने की ठानी,
लेकिन मेरे मन में आया एक सवाल।।

मैंने अपने स्कूल में ही,
कर दिया बवाल।
स्कुल में देखा एक नया माल।।

मैंने फ्लट किया,
बड़े सुन्दर है आपके बाल ।
लगते है हमेशा,
संसद में लटके हुए लोकपाल।।

मैंने आगे झूठ बोला,
आपके सुन्दर और फुले हुए गाल।
कराते है मेरे मन में हमेशा,
कश्मीर जैसा बवाल।।

मैंने किया प्रेम का इजहार,
तो उसने कर दिए मेरे गाल लाल।
फिर वहा खड़े लोगो ने पिटा,
फिर उसने पूछा एक सवाल।।

वैसे तुमने किया क्या था,
जो उसने किया बवाल।
जो इन बेरहम लोगो ने कर दिया,
तेरा यह बुरा हाल।।

मैंने उन्हें बताया,
करना चाहा प्यार कर दिया यह हाल।
अरे अभी तेरी उम्र ही क्या है,
खुद को पागल बनने से  संभाल।।